Aatma se baat karne ka tarika in hindi

Spread the love
Aatma se baat karne ka tarika

Aatma se baat karne ka tarika in hindi-आत्मा से बात कैसे करें?

Welcome, Aatma se baat karne ka tarika, आत्मा से बात kaise kare, क्या अपने आप से कभी बात की, क्या आप पर कोई किसी प्रकार का दबाव है। या किसी शंका का समाधान करना चाहते हो, अपने आप से हम कैसे बात करते हैं। क्या दिल से aatma se baat हम कैसे बात करें? आज इस पोस्ट में हम इन्हीं शब्दों के साथ आपके साथ कुछ अपने अनुभव साझा करना चाहते हैं। चलिए शुरू करते हैं।

Aatma se baat karne ka tarika

दोस्तों सबसे पहले बात करते हैं aatma se baat karne ka tarika, जी बिल्कुल मैं किसी और aatma se baat करने का तरीक़ा नहीं बता रहा हूँ, मैं अपने आप से बात करने का तरीक़ा आपके साथ साझा कर रहा हूँ। अपने आप से हम कैसे बात करें? क्योंकि हम जवान से मुख से बात करते हैं। शब्द निकालते हैं। लेकिन हमारे अंदर जो आत्मा बैठी है सोल बैठा है उसे हम कैसे बात करेंगे।

जैसे उदाहरण के ले लीजिए प्रत्यक्ष जब किसी आइना के सामने आप होते हैं तो, आपका चेहरा दिखता है ठीक उसी प्रकार से हमारे अंदर भी एक आत्मा है। जो हृदय के माध्यम से हमारे दिमाग़ में कुछ प्रगति जागृत करते हैं। जिससे हम कुछ ज़ुबान पर शब्द उच्चारण करते हैं। अपनी आत्मा स्वयं सेल्फ से कैसे बात करें? जी बिल्कुल सही है यदि आप परेशान हैं हताश है, निराश हैं, या कहीं आप किसी प्रकार के बोझ से परेशान हैं,

आप अपने आप एक सुनसान स्थिति में बैठ सकते हैं। आप बैठ जाइए बैठने के बाद आप बिल्कुल शांत क्षेत्र, थोड़ी आप आँख बंद कीजिए. आँख बंद करने के बाद आप अपने आपसे प्रश्न कीजिए कि क्या मैं ही कर रहा हूँ। सही है इसका परिणाम क्या होगा। इसका सही रिजल्ट होगा, या इसका ग़लत रिजल्ट होगा। आप अपने आपसे प्रश्न कीजिए आप aatma se baat करेंगे।

अपने जिगर आत्मा से बात (aatma se baat)

आपको पक्ष निष्पक्ष है, पॉजिटिव नेगेटिव सारे क्लियर कर देंगे। ताकि आप सही रास्ते पर चल सकें। यदि हम बिना अपने जिगर aatma se baat किए कहीं किसी रोज़ ब जोश में चल देते हैं। तो उसका परिणाम कुछ खतरनाक भी हो सकता है। लेकिन हम किसी कठिन परिस्थिति में हम अपने आप से स्वयं से दिल से हृदय से बात करेंगे। सोचेंगे कि हाँ हम यह काम करेंगे।

उसके बारे में आपको सोचना है कि इसका रिजल्ट क्या होगा, इसका नेगेटिव रिजल्ट होगा। इसके ना करने से क्या होगा। इसके करने से क्या होगा। आप अपने आप में पूरा डिसाइड कीजिए. मंथन कीजिए उसके बारे में गहन अध्ययन कीजिए, उसको सोच समझ गए इसको हम कह सकते हैं। वैज्ञानिक पद्धति पर या पर आत्मा सेल्फ से बात करना, aatma se baat karana अपने आप से बात करना कि हाँ हम उसका रिजल्ट क्या निकालेंगे। इस प्रकार से आप अपने आप से बात कर सकते हैं।

दोस्तों मैं किसी और aatma ke bare में उतना गहन अध्ययन नहीं किया है। ना ही मुझे इतना तजुर्बा है कि किसी की aatma se baat कैसे करते हैं। क्योंकि यह तो तांत्रिक विद्या विद्वानों का काम होता है। कुछ अद्भुत शक्तियों का काम होता है। लेकिन हाँ मैं विश्वास करता हूँ वह परमपिता परमात्मा, उस परमपिता परमात्मा कि असीम अनुकंपा से आप सब कुछ कर सकते हैं।

Aatma se baat करने का एक तरीक़ा

जिसने हमें बनाया है सब कुछ बनाया, इसी पर में aatma se baat karne का एक तरीक़ा आपके साथ साझा करना चाहता हूँ। जो बिल्कुल ही सरल और यदि आप आत्मा से बात करना चाहते हैं तो इसके बारे में आप किसी महापुरुष किसी पूर्ण संत जिसने आत्मा परमात्मा को समझा देखा हो, जिसने अपनी दिव्य दृष्टि से आध्यात्मिक शक्ति से योग साधना से परमात्मा को देखा हो,

Aatma को ही देखा हो, उसी महापुरुष के माध्यम से हमें अनुभव कर सकते हैं। हम इसको साकार कर सकते हैं। हम aatma se baat कर सकते हैं। ऐसे बहुत महापुरुष हैं जिन्होंने कठोर तपस्या और आध्यात्मिक शक्तियों के बल पर एक के मृत आत्मा जो शरीर छोड़ चुकी है। उससे उन्हें बात की और उनकी बातों का जवाब हम सबको दिया। लेकिन इसके बारे में तो कोई पूर्ण संत ही जान सकता है।

क्योंकि जब योग साधना करते हैं। साधना करते-करते तपस्या करते-करते जब उनका तीसरा नेत्र शिव नेत्र खुल जाता है। तो वह आत्मा परमात्मा से प्यार करने लगता है। इज़हार करने लगता है और उसे संसार को परमात्मा अपने आंखों से दिखाई देने लगता है। जो संसार दिखता है वह परमात्मा देखता है। तो आत्मा उसके लिए ना के बराबर होती है। इसलिए रियल में यदि आत्मा से बात करना है।

आत्मा से बात करना (aatma se baat karna)

आत्मा दर्शन करना है तो किसी महापुरुष की खोज कीजिए, हम सबको किसी महापुरुष की खोज करना चाहिए, लेकिन हाँ मैं जिस महापुरुष की बात कर रहा हूँ जिनके माध्यम से मुझे यह आध्यात्मिक ज्ञान मिला है मैं, उनकी ज्ञान के बराबर तो बात नहीं कर रहा हूँ। लेकिन में जो भी शब्द उस महापुरुष परम संत बाबा जयगुरुदेव जी महाराज मथुरा वाले उनके द्वारा बताए हुए बातों को मैंने कुछ इस पोस्ट में आपके साथ साझा किया।

जो वास्तव में आत्मा का दर्शन कर सकते हैं। उनको देख सकते हैं aatma se baat कर सकते हैं। या पावरफुल परम संत बाबा जयगुरुदेव जी महाराज ने योग साधना में बताया है। यदि हम साधना करते हैं उसी बलबूते पर हम अपनी आत्मा का दर्शन कर सकते

हम आत्मा से बात कर सकते हैं। हम आत्मा को प्रत्यक्ष देख सकते हैं। हालांकि इन आंखों से नहीं दिमाग़ से देख सकते हैं। तीसरे नेत्र से देख सकते हैं। आप अपनी aatma se baat कर सकते हैं।

Post conclusion

दोस्तों हमने aatma se baat karne ka tarika के बारे में आपसे बात की, इस पोस्ट में आपके साथ साझा किया। आशा है आपको यह पोस्ट ज़रूर पसंद आई होगी। कुछ ज्ञान में और रहस्यमई लगी होगी। आप कमेंट में आप अपने अनुभव हमारे साथ साझा कर सकते हैं। यदि आपका कोई प्रश्न हो तो हमें कमेंट के माध्यम से भी पूछ सकते हैं। इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

Read more some post-

1 thought on “Aatma se baat karne ka tarika in hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *