33+10-Morning Walk Benefits in Hindi-सेहत के लिए सुबह की सैर

हम सभी अपने बड़ों से सुनते आ रहे हैं कि सुबह की सैर (Morning Walk) सेहत के लिए बहुत अच्छी होती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ भी अक्सर Morning Walk करने की सलाह देते हैं। डिजिटल दुनिया में मॉर्निंग वॉक न सिर्फ जरूरी हो गया है, बल्कि कई मायनों में इसके Benefits भी बढ़े हैं। इसका कारण यह है कि आज की दुनिया ने कठिन से कठिन काम को भी आसान कर दिया है।

आज की डिजिटल दुनिया में ऑफिस का काम हो या शॉपिंग, सब कुछ एक क्लिक से हो जाता है। लेकिन ऐसे में व्यक्ति की शारीरिक गतिविधि (Physical Activity) बहुत कम हो गई है और मानसिक गतिविधि बढ़ गई है। इससे लोगों को शारीरिक और मानसिक (Physical and Mental) दोनों तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। फिट रहने के लिए रोजाना सुबह की सैर (Morning Walk) करना काफी Benefits माना जाता है। टहलना सबसे आसान और बेहतरीन व्यायाम है जिसके कई फायदे हैं। रोजाना सुबह टहलने से कई गंभीर बीमारियों से छुटकारा (Morning Walk Benefits) मिलता है।

सर्दियों में मॉर्निंग वॉक सबसे मुश्किल काम होता है क्योंकि रजाई से बाहर निकलना किसी जंग जीतने से कम नहीं होता है। लेकिन अच्छी सेहत के लिए मॉर्निंग वॉक (Morning Walk for Good Health) भी जरूरी है। ऐसे में सर्दियों में Morning Work मिस न करने के लिए क्या करना चाहिए? हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप सुबह टहलने जा (Morning Walk) सकते हैं। आपकी दिनचर्या बनी रहेगी।

मॉर्निंग वॉक स्वस्थ जीवन लिए फायदेमंद (Beneficial For Life)

क्या आप स्वस्थ जीवन जीना चाहते हैं? अगर हाँ, तो Morning Walk स्वस्थ जीवन लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। इस नए जमाने में आजकल हर व्यक्ति स्वस्थ रहने के लिए तरह-तरह के कदम उठाता है। कोई घर में रहकर Excercise करना पसंद करता है तो कोई जिम (Gym) जाकर फिट रहने की कोशिश करता है। अगर आपको भारी work out करना या जिम जाना पसंद नहीं है, तो आप इन Easy Exercises को करके स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।

आपने देखा होगा कि लोग सुबह-सुबह पार्क में या सड़कों पर टहलते (Early Morning Walk) हैं। पैदल चलना सबसे आसान और बेहतरीन व्यायाम माना जाता है, जो न सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य (Physical Health) के लिए बल्कि मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) के लिए भी फायदेमंद (Benefits) होता है। पैदल चलने (Walking On Foot) से न सिर्फ हमारा मूड अच्छा होता है बल्कि इसका हमारे स्वास्थ्य पर भी सही असर पड़ता है।

Morning Walk से गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है

मॉर्निंग वॉक करने से लाइफस्टाइल से जुड़ी कई गंभीर बीमारियों (Serious Diseases) से बचा जा सकता है। इसके अलावा, Subah Mein जल्दी चलने के लाभों में (Morning Walk Benefits) मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देना भी शामिल है, जबकि सुबह टहलना बेहतर स्वास्थ्य के लिए आवश्यक शारीरिक गतिविधियों में से एक हो सकता है।

क्योंकि, Subah Mein चलने के लिए हमें किसी विशेष कौशल, जिम या उपकरण की आवश्यकता नहीं होती है। जबकि चलना मध्यम से चुस्त शारीरिक गतिविधियों में शामिल है। इस कारण से, सुबह की सैर नींद की गुणवत्ता में सुधार के साथ-साथ याददाश्त और सोचने और सीखने की क्षमता में सुधार कर सकती है। इसके अलावा Morning Walk से चिंता के लक्षणों को भी कम किया जा सकता है।

ऐसे में बेहतर स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए सभी को नियमित रूप से Morning Walk को अपनाना चाहिए। ऑफिस का काम हो या शॉपिंग, घर बैठे एक क्लिक से ही सब कुछ हो जाता है। लेकिन ऐसे में व्यक्ति की शारीरिक गतिविधि बहुत कम हो गई है और मानसिक गतिविधि बढ़ गई है। इससे लोगों को शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से परेशानी हो रही है। ऐसे में Morning Walk से व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक दोनों ही तरह की सभी समस्याओं से Benefits मिलती है।

स्वस्थ रहने के लिए Morning Walk सबसे अच्छा उपाय

यदि आपका आधे घंटे की मॉर्निंग वॉक रहता है तो वह आपके लिए बहुत फायदेमंद, मानसिक स्वास्थ्य से लेकर शारीरिक स्वास्थ्य तक, Morning Walk बहुत फायदेमंद है मॉर्निंग वॉक मधुमेह, हृदय रोग और कैंसर जैसी गंभीर समस्याओं से राहत दिलाती है। हमारे शरीर के लिए होने वाले फायदे आप जानेंगे, कौन-कौन से Morning Walk Benefits In Hindi होते हैं यह सब कुछ पूरा विवरण पढ़ सकते हैं।

1-मधुमेह को नियंत्रण में रखता है (Control Diabetes)

मधुमेह एक लाइलाज बीमारी है। इसकी दवा व्यक्ति को लंबे समय तक लेनी पड़ती है। तमाम शोध बताते हैं कि अगर कोई व्यक्ति नियमित रूप से टहलता (Morning Walk) है तो वह मधुमेह को नियंत्रण (Control Diabetes) में रख सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का भी मानना ​​है कि मधुमेह के रोगियों के लिए टहलना बहुत फायदेमंद (Morning Walk Benefits) होता है। अव्यवस्थित जीवनशैली के कारण कई लोग मधुमेह के शिकार हो जाते हैं। Morning Walk करने से डायबिटीज का खतरा 20 से 30% तक कम हो जाता है। इसलिए डॉक्टर डायबिटीज के मरीजों को सुबह जल्दी चलने की सलाह देते हैं।

2-हृदय को स्वस्थ रखें (Benefits for keeping heart healthy)

खराब खान-पान और लाइफस्टाइल की वजह से मोटापा (obesity) , बीपी और कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याएँ आम हो गई हैं। इनकी वजह से हृदय का स्वास्थ्य प्रभावित होता है और हृदय सम्बंधी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है। रोजाना कम से कम आधे से एक घंटे की मॉर्निंग वॉक (Morning work) इन सभी समस्याओं में राहत देती है। वजन और कोलेस्ट्रॉल कम होता है, बीपी नियंत्रित रहता है और हृदय स्वास्थ्य बना रहता है।

3-अवसाद को रोकना (Benefit In Preventing Depression)

आज के समय में लोगों पर इतना दबाव होता है कि वह तनाव में रहते हैं और इस बीच जब वे Depression में आ जाते हैं तो उन्हें पता ही नहीं चलता। डिप्रेशन को लोग भले ही गंभीरता से न लें, लेकिन असल में Depression इंसान को कुछ भी कर सकता है। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि अगर कोई व्यक्ति रोजाना सुबह टहलता है तो उसकी मानसिक शक्ति मजबूत होती है। मूड में सुधार करता है और तनाव कम करता है। ऐसे में डिप्रेशन के मरीजों के लिए मॉर्निंग वॉक काफी फायदेमंद (Morning Walk Benefits) साबित होता है।

4-फेफड़ों के लिए फायदेमंद (Beneficial For Lungs)

कोरोना काल में लोग अपने फेफड़ों की सेहत (Lung Health) को लेकर ज्यादा चिंतित हो गए हैं क्योंकि कोरोना सीधे फेफड़ों पर हमला करता है। हृदय का स्वास्थ्य हमारे जीवन के लिए उतना ही महत्त्वपूर्ण है जितना कि फेफड़ों के लिए। कई शोध बताते हैं कि सुबह की सैर फेफड़ों को सुरक्षित (Morning Walk Protects Lungs) और स्वस्थ रखने में काफी फायदेमंद होती है।

5-अनिद्रा की समस्या को दूर करता (Problem Of Insomnia)

कुछ लोग कभी-कभी इतने तनाव में आ जाते हैं कि वे ठीक से सो नहीं पाते (Problem Of Insomnia) हैं। कई बार उन्हें सोने के लिए नींद की गोलियाँ भी खानी पड़ती हैं। यह उनके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। लेकिन स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि सुबह कुछ देर टहलने से (Morning Walk) यह समस्या पूरी तरह खत्म हो जाती है। यह मन को शांत करता है, स्मरण शक्ति में सुधार करता है और लोगों को पूरे दिन ऊर्जा से भरा रखता है। इससे कार्यस्थल पर उनके प्रदर्शन में भी सुधार होता है।

6-ऑस्टियोपोरोसिस के लिए प्रभावी (Effective For Osteoporosis)

एक शोध के अनुसार यह पाया गया है कि Morning Walk करने से Osteoporosis और गठिया जैसी समस्याएँ दूर होती हैं। अगर कोई गठिया की समस्या से पीड़ित है तो उसे हफ्ते में कम से कम 150 मिनट तक आसान शारीरिक गतिविधि करनी चाहिए। इस शारीरिक गतिविधि में पैदल चलना, साइकिल चलाना और तैरना फायदेमंद माना जाता है।

7-यह मानसिक स्थिति को मजबूत करता (Strong Mental State)

आज के दौर में डिप्रेशन एक गंभीर समस्या बन चुकी है जो कई लोगों की जान ले लेती है। डिप्रेशन जैसी समस्या से निजात पाने के लिए व्यक्ति को daily morning walk करना चाहिए। क्योंकि इससे मानसिक स्थिति मजबूत होती है। एक शोध के अनुसार यह पाया गया कि डिप्रेशन के मरीज जो 20 से 40 मिनट तक मॉर्निंग वॉक करते हैं उनकी हालत में सुधार होता है।

8-हृदय रोग के खिलाफ प्रभावी (Against Heart Disease)

शोध के अनुसार, यह पाया गया है कि सुबह की सैर हृदय को स्वस्थ रखती (Morning walk keeps heart healthy) है। नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक (Daily Morning Walk) करने से हृदय की कई बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। सुबह की सैर हृदय रोग के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

9-कैंसर के खतरे को कम करता (Reduce The Risk Of Cancer)

कई वैज्ञानिक शोधों के अनुसार यह पाया गया है कि मॉर्निंग वॉक से कैंसर का खतरा भी कम होता है। हफ्ते में करीब 3 घंटे Morning walk से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम होता है, वहीं 6 घंटे वॉक करने से कोलन कैंसर से बचाव होता है। रोजाना मॉर्निंग वॉक (Daily Morning Walk) करने से महिलाओं को होने वाले कैंसर का खतरा भी कम होता है।

10-मस्तिष्क की कार्यक्षमता में वृद्धि लाना (Increase Brain Function)

Regular Morning Walk करने से मानसिक स्थिति तो मजबूत होती ही है साथ ही दिमाग की कार्यक्षमता भी बढ़ती है। इतना ही नहीं रोजाना मॉर्निंग वॉक करने से कई मानसिक समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है। डिमेंशिया से पीड़ित व्यक्ति के लिए मॉर्निंग वॉक बहुत फायदेमंद (Morning walk beneficial) मानी जाती है।

11-वजन घटाने के लिए सहायक (Weight Loss)

मोटापा भी आम बीमारियों में एक गंभीर समस्या है जो खराब जीवनशैली और गलत खान-पान के कारण होती है। वजन कम करने के लिए Excercise करना बहुत जरूरी है। जो व्यक्ति जिम जाना या भारी व्यायाम करना पसंद नहीं करते, उन्हें नियमित रूप से मॉर्निंग वॉक (daily morning Work) अवश्य करनी चाहिए। मॉर्निंग वॉक वजन घटाने (Weight Loss) में काफी मददगार साबित होती है। शोध के अनुसार यह पाया गया है कि मॉर्निंग वॉक करने से पेट कम होता है और Strong Muscles होती हैं।

12-प्रतिरक्षा बढ़ाने में मदद करता है (Boosting Immunity)

किसी भी बीमारी से लड़ने के लिए Immunity मजबूत होनी चाहिए। अगर किसी व्यक्ति के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो तो वह कई बीमारियों का शिकार हो सकता है। वैज्ञानिक शोध में पाया गया है कि रोजाना 30 मिनट Morning walk करने से शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है, जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) भी मजबूत होती है।

13-त्वचा को चमकदार बनाता है (Makes Skin Glow)

संतुलित आहार से त्वचा को ग्लोइंग बनाने के लिए शरीर के अंदर मौजूद फ्री रेडिकल्स को हटाना बेहद जरूरी है। Daily Morning Wolk करने से शरीर के अंदर ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है, जिससे Skin की कोशिकाएँ भी सुरक्षित रहती हैं। मॉर्निंग वॉक एंटी एजिंग की समस्या को भी दूर करता है और त्वचा को स्वस्थ भी बनाता है।

14-सुबह की सैर बालों को स्वस्थ रखती है (Morning Walk Keeps Hair Healthy)

कहा जाता है कि Vitamin D की कमी के कारण अक्सर महिलाओं में बालों के झड़ने की समस्या देखी जाती है। सुबह सूरज की किरणों में विटामिन डी अवशोषित होता है, जो हमारी त्वचा में जाकर शरीर के अंदर Vitamin D की आपूर्ति करता है। विटामिन डी की मदद से हमारे बाल मजबूत (Strong Hair) बनते हैं और स्वस्थ रहते हैं।

15-गठिया से बचाए (Protect Against Gout)

अनियंत्रित जीवनशैली और बढ़ती उम्र का नकारात्मक प्रभाव गठिया (Gout) जैसी समस्याओं के रूप में देखा जा सकता है। दरअसल, एक ऐसी समस्या है जिसमें हड्डियों का घनत्व कम होने लगता है। इससे हड्डियाँ पतली और कमजोर हो जाती हैं। इससे हड्डियों में भी दर्द होता है। सुबह जल्दी चलने के फायदे हड्डियों के घनत्व को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। ऐसे में Morning walk करना गठिया समस्या में मददगार हो सकता है।

16-हड्डी की समस्या (Bone Problems)

इसी तरह गठिया से जुड़े मामलों में भी स्वास्थ्य विशेषज्ञ शारीरिक रूप से सक्रिय रहने की सलाह देते हैं, जिसके लिए Morning Walk को उपयोगी माना जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार, गठिया के खतरे को कम करने के लिए एक वयस्क को प्रति सप्ताह कम से कम 150 मिनट के लिए मध्यम गति की शारीरिक गतिविधि में भाग लेना चाहिए। इसके तहत पैदल चलना, तैरना या साइकिल चलाना जैसी गतिविधियों को अपनाया जा सकता है, यही वजह है कि गठिया या कमजोर हड्डियों की समस्या से पीड़ित लोगों के लिए Morning Walk एक कारगर व्यायाम साबित हो सकता है।

17-हाई ब्लड शुगर को नियंत्रित (Control High Blood Uugar)

मॉर्निंग वॉक से इस समस्या को कुछ हद तक कम किया जा सकता है। एक शोध के अनुसार चलने जैसी शारीरिक गतिविधि को अपनाने से टाइप मधुमेह का खतरा 20 से 30 प्रतिशत तक कम हो जाता है। वहीं Morning walk मेटाबॉलिक सिंड्रोम के खतरे को कम कर हाई ब्लड शुगर को नियंत्रित कर सकता है, ऐसे में मॉर्निंग वॉक के फायदे Morning Walk Benefits डायबिटीज के मरीजों के लिए भी हो सकते हैं।

18-दिल के स्वास्थ्य में सुधार (improve heart health)

Morning Walk Ka Benefits दिल की सेहत को बनाए रखने में भी मददगार हो सकते हैं। इतना ही नहीं, अध्ययन भी इस बात की पुष्टि करते हैं कि जितना अधिक आप चलते हैं, उतना ही यह दिल की समस्याओं के जोखिम को कम करने में मदद करता है। इस आधार पर हृदय रोग से पीड़ित मरीजों के लिए Morning Walk करना फायदेमंद माना जा सकता है।

19-चर्बी घटाने के लिए (Lose Fat)

अनियंत्रित खान-पान और खराब जीवनशैली को चर्बी का एक प्रमुख कारण माना जाता है। ऐसे में चर्बी को नियंत्रित करने के लिए उचित आहार के साथ स्वस्थ जीवन शैली को जरूरी माना जाता है। वहीं, विशेषज्ञों का कहना है कि मॉर्निंग वॉक डाइट में कोई बड़ा बदलाव किए बिना, चर्बी घटाने में मदद कर सकता है, जबकि पीड़ित लोगों पर किए गए एक शोध में पाया गया कि केवल पैदल चलने से ही शरीर की चर्बी कम हो सकती है, शरीर में लोच बढ़ सकती है और मांसपेशियाँ मजबूत हो सकती हैं।

20-ऑक्सीजन को बढ़ाएँ (Iincrease oxygen)

Morning Walk के Benefits शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिहाज से भी मददगार हो सकते हैं। मॉर्निंग वॉक से जुड़े एक शोध से यह बात साफ हो गई है। शोध में माना गया है कि रोजाना 30 मिनट की सैर से रक्त प्रवाह बढ़ाकर शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाई (increase oxygen) जा सकती है। इस तरह मॉर्निंग वॉक कुछ हद तक इम्यून सिस्टम को मजबूत कर बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान कर सकता है।

21-थकान दूर करने के लिए (Relieve Fatigue)

यह शारीरिक थकान को दूर करने में भी मदद कर सकता है। वास्तव में, चलने से Multiple Sclerosis का खतरा कम हो सकता है, जो शारीरिक थकान को कम करने में मदद कर सकता है, जिसमें शरीर के ऊतकों को नुकसान होता है, जो मस्तिष्क और शरीर के बीच संदेशों के काम करने के तरीके को प्रभावित कर सकता है। यह समस्या मांसपेशियों में कमजोरी और सामान्य शारीरिक संतुलन बनाए रखने में बाधा उत्पन्न कर सकती है, जिसके कारण थकान हो सकती है। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि सुबह की सैर शारीरिक थकान को दूर करने में भी मदद कर सकती है।

22-फेफड़े की कार्यक्षमता में सुधार (Improve Lung Function)

शारीरिक गतिविधि के दौरान, फेफड़े शरीर में ऑक्सीजन ले जाते हैं, जो शरीर को ऊर्जा देता है और शरीर से Carbon dioxide को निकालता है। वहीं, हृदय मांसपेशियों को ऑक्सीजन पहुँचाने में मदद करता है। इसी तरह, जब मांसपेशियाँ अधिक काम करती हैं, तो कार्बन डाइऑक्साइड बनाने के लिए शरीर को अधिक ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। इस वजह से सांस लेने की दर भी बढ़ जाती है। इस तरह सुबह नियमित रूप से Morning Walk के Benefits भी फेफड़ों की कार्यक्षमता बढ़ाने में मददगार माने जा सकते हैं।

23-तनाव से राहत (Stress Relief)

मॉर्निंग वॉक को तनाव दूर करने का असरदार तरीका माना जा सकता है। तनाव का शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है, जिससे कई तरह की शारीरिक-मानसिक समस्याएँ हो सकती हैं। वहीं Morning Walk से दिमाग में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और मूड भी अच्छा रहता है जिससे तनाव कम करने में मदद मिल सकती है। ऐसे में मॉर्निंग वॉक दिमाग को तरोताजा कर तनाव के जोखिम को कम करने का काम कर सकता है।

24-कोलेस्ट्रॉल रहता है नियंत्रित (Cholesterol Controlled)

वयस्कों के लिए प्रति सप्ताह ढाई घंटे नियमित सुबह की सैर (Morning Walk) की सिफारिश की जाती है और किशोरों और बच्चों के लिए Cholesterol को नियंत्रण में रखने के लिए लगभग 1 घंटे मध्यम गति के व्यायाम की सलाह दी जाती है। इसमें तेज चलना भी शामिल है। इसी आधार पर मॉर्निंग वॉक को बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने की दृष्टि से भी लाभकारी माना जा सकता है।

25-धमनियों की रुकावट को रोकें (Blockage Of Arteries)

अक्सर यह समस्या बढ़ती उम्र, खराब लाइफस्टाइल और शारीरिक गतिविधियों में कमी के कारण ज्यादा देखने को मिलती है। इस स्थिति में, धमनियों (हृदय से रक्त को आगे ले जाने वाली रक्त वाहिकाओं) में वसायुक्त पदार्थ बनने लगते हैं। इससे यह पतला होने लगता है, जो शरीर में रक्त के प्रवाह को प्रभावित कर सकता है। वहीं, स्थिति गंभीर होने पर पेरिफेरल आर्टरी डिजीज का खतरा बढ़ जाता है, जो मुख्य रूप से हाथों और पैरों में सुन्नता की समस्या को बढ़ा सकता है। वहीं इस तरह की समस्या से बचने में Benefits Of Walking मिल सकते हैं। इस समस्या से बचने के लिए हफ्ते में 5 दिन 30 मिनट वॉक करना असरदार हो सकता है।

26-शरीर की आंतरिक देखभाल (Internal Body Care)

स्वस्थ त्वचा दो कारकों पर निर्भर करती है, एक शरीर की आंतरिक स्थिति और दूसरी बाहरी स्थिति, शरीर की आंतरिक देखभाल की बात करें, इसके लिए शरीर के अंदर मुक्त कणों को रोकने के साथ-साथ संतुलित आहार भी आवश्यक है। शारीरिक गतिविधि ऑक्सीजन के प्रति शरीर की प्रतिक्रिया को बढ़ाती है, जो त्वचा की कोशिकाओं की रक्षा करती है। इसी आधार पर सुबह की सैर (Morning Walk) प्राकृतिक रूप से बढ़ती उम्र के निशानों को दूर कर त्वचा की चमक बरकरार रखने में मददगार मानी जा सकती है।

27-महिला बालों की समस्या से राहत (Female Hair Problem)

महिलाओं में विटामिन डी-सी रम के निम्न स्तर को कुछ हद तक महिला पैटर्न बालों के झड़ने की समस्या के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। वहीं, सुबह की सैर बालों के झड़ने की इस समस्या से राहत दिला सकती है। दरअसल, सूरज की किरणें विटामिन डी का स्रोत होती हैं। वहीं, Morning Walk करने से हमारा शरीर त्वचा के माध्यम से सूरज की किरणों से विटामिन डी की आपूर्ति कर सकता है, इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि मॉर्निंग वॉक में मदद मिल सकती है। शरीर में विटामिन डी के स्तर को बढ़ाकर बालों को स्वस्थ रखता है। ।

28-अच्छी नींद को बढ़ावा देना (Promote Good Sleep)

दिन का तनाव अक्सर नींद को दूर कर देता है, जिससे शरीर को पर्याप्त आराम नहीं मिल पाता है। वहीं अगर मॉर्निंग वॉक की आदत बना ली जाए तो रात में अच्छी नींद का मजा लिया जा सकता है। वास्तव में, चलने की आदत नींद में बाधा डालने वाले कारकों को कम करने में मदद कर सकती है। इसलिए Morning walk को नींद की अवधि बढ़ाने में कारगर माना जा सकता है। इसलिए अगर किसी को रात में सोने में परेशानी होती है तो वह मॉर्निंग वॉक करना शुरू कर सकता है।

29-मस्तिष्क समारोह के नुकसान को रोकें

अध्ययनों के अनुसार उम्र के साथ याददाश्त कमजोर होती जाती है। रोजाना चलने वाली महिलाओं (Women Walking Everyday) की तुलना में कम चलने वाली महिलाओं में यह समस्या अधिक पाई जा सकती है। दूसरी ओर, पैदल चलना उम्र से सम्बंधित मानसिक बीमारियों को दूर रखने का एक शानदार तरीका है। नियमित रूप से चलने और दिन भर सक्रिय रहने से संवहनी मनोभ्रंश जैसी मानसिक बीमारी के जोखिम को 70 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है। इस आधार पर चलने के फायदे ज्ञान क्षमता को बढ़ाने में भी मददगार हो सकते हैं।

30-आंतरिक और बाह्य रूप से स्वस्थ

Morning Walk के Benefits आपको अंदर और बाहर से स्वस्थ रखने का काम करती है। शोध के अनुसार चलने की तरह व्यायाम करने से शरीर में ऑक्सीजन की खपत 11 प्रतिशत तक बढ़ जाती है, जिससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। साथ ही, चलने की प्रक्रिया को न्यूट्रोफिल (एक प्रकार की श्वेत रक्त कोशिकाओं) और प्राकृतिक हत्यारे रक्त कोशिकाओं (प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने वाली कोशिकाएं) के स्तर में सुधार करने के लिए भी देखा जाता है। ऐसे में Morning walk को भी इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाकर शरीर को रोगमुक्त रखने में उपयोगी माना जा सकता है।

31-उम्र बढ़ने से जुड़ी समस्याओं से राहत

अक्सर देखा गया है कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ मांसपेशियों, हड्डियों और अन्य शारीरिक-शारीरिक स्थितियों के साथ-साथ मानसिक क्षमता भी कम होने लगती है। वहीं मॉर्निंग वॉक से वृद्ध लोगों में बढ़ती उम्र से जुड़ी कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है। वास्तव में, नियमित रूप से चलना न केवल मांसपेशियों को मजबूत कर सकता है, बल्कि अधिक वजन, हृदय रोग, ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने और मस्तिष्क के कार्य में सुधार करने में Morning Walk मदद कर सकता है। चूंकि इन सभी समस्याओं को आमतौर पर वृद्ध लोगों में उम्र बढ़ने के प्रभाव के रूप में देखा जाता है। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि सुबह की सैर बढ़ती उम्र के लक्षणों और समस्याओं को कम करने में कुछ हद तक फायदेमंद साबित हो सकती है।

32-समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए (Maintain Health)

Morning Walk के Benefits से जुड़े एक शोध में इस बात को साफ तौर पर स्वीकार किया गया है। शोध से पता चला है कि सिर्फ 30 मिनट या उससे अधिक समय तक चलने से हृदय गति को नियंत्रित करने के साथ-साथ पैरों और निचले शरीर की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, यह शरीर के जोड़ों की लोच को बढ़ाकर शरीर के आकार में सुधार करने में भी मदद कर सकता है। इसलिए शरीर के संपूर्ण स्वास्थ्य को प्राकृतिक रूप से बनाए रखने के लिए Morning Walk को एक अच्छा विकल्प माना जा सकता है।

33-नाइट टाइम वॉक टिप्स (Night Time Walk Tips)

रात का खाना सोने से करीब दो घंटे पहले खा लें। इसे खाने के बाद धीरे-धीरे चलें। खाना खाने के तुरंत बाद पानी न पिएँ। कुछ देर बाद बाहर घूमने निकल जाएँ। वॉक से आने के बाद पानी पिएँ। इससे आपको बार-बार वॉशरूम जाने में परेशानी होगी और पेट फूला रहेगा। वहीं रात के समय नॉनवेज और प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें। इन्हें पचने में काफी समय लगता है। रात को हल्का भोजन करें।

जानिए Morning Walk करने के लिए कुछ जरूरी टिप्स

सुबह टहलने के फायदे जानने के बाद आगे जानिए इसे करने के कुछ जरूरी टिप्स। मॉर्निंग वॉक के लिए कुछ और टिप्स, मॉर्निंग वॉक करते समय कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना भी जरूरी है। इनमें से कुछ चीजें इस प्रकार हैं:

1-भोजन के तुरंत बाद व्यायाम न करें।
2-शरीर में रक्त का संचार भी सुचारू रूप से चलता रहता है। इसलिए मॉर्निंग वॉक करें। इससे पर्याप्त मात्रा में विटामिन-डी मिलेगा।
3-अगर आप शरीर से अतिरिक्त चर्बी को कम करना चाहते हैं तो सुबह उठकर कुछ दूरी तक तेज दौड़ने का अभ्यास करें।
4-जॉगिंग करते समय अपने पोस्चर को सीधा रखें, खासकर तब जब आप बॉडी टोन के लिए यह फिजिकल एक्टिविटी कर रहे हों।
5-घर के आसपास स्थित बाज़ार या दुकान पर जाने के लिए पैदल जाएँ।
6-मॉर्निंग वॉक के दौरान ज्यादा पानी न पिएँ।


7-अगर आप मॉर्निंग वॉक की शुरुआत कर रहे हैं तो पहले कुछ दिनों तक अपनी गति सामान्य रखें और धीरे-धीरे गति बढ़ाते जाएँ।
8-सुबह की सैर करते समय हमेशा पैदल मार्ग का प्रयोग करें। बीच सड़क पर न चलें।
9-अगर घर में पालतू जानवर हैं तो सुबह आप उन्हें उनके साथ सैर पर ले जा सकते हैं। इससे मॉर्निंग वॉक के फायदे भी मिल सकते हैं।
10-मॉर्निंग वॉक के फायदे पाने के लिए रोजाना कम से कम 30 मिनट वॉक जरूर करें।
11-कम लिफ्ट का उपयोग करके भी मॉर्निंग वॉक का लाभ पाया जा सकता है। ऐसे में जितना हो सके सीढ़ियों का इस्तेमाल करें।

Leave a Comment

12 − 4 =